गया (बिहार) एक वीडियो क्लिप सामने आया है जिसमे में एक स्कूल जाने वाले बच्चे ने शिकायत की है उसे स्कूल के लंच टाइम में भगवद गीता पढ़ते देख कर स्कूल टीचर ने उसे न केवल डांट  लगायी बल्कि यह भी कहा की तुम्हारे देवी -देवता कुत्ते है। और फिर भगवद गीता को उसके हाथ से छीन  कर कूड़े के ढेर में फेक दिया।  एक महिला टीचर जिसका नाम सदाफ है उसके ऊपर आरोप है की उसने बच्चे को गीता पढ़ने से  न केवल रोका बल्कि हिन्दू देवी देवताओ के बारे अपशब्द भी कहे।  वीडियो में  बच्चे ने यह भी बतया की यह टीचर उन्हें हिंदी के पीरियड में  उर्दू भी जबरदस्ती पढ़ाती है।  
 वीडियो  में  गया इस्कॉन ने बताया की उनके यंहा पर काफी बच्चो को भगवद गीता पढ़ने के लिए उत्साहित किया जाता है।  यह बच्चा भी बहुत अच्छे भगवद गीता को पड़ता है और दूसरे बच्चो को भी लंच टाइम में भगवद गीता पढ़ना सीखता है।
ऐसा प्रतीत होता है की स्कूल की टीचर ने भेदभाव अपनाते हुए बच्चे के ऊपर मानसिक दबाव बनने की कोशिश की है की वो क्या पढ़ सकता है और क्या नहीं।  जब लोकल प्रश्नशान पुलिस को इसकी सुचना दी गयी तो उन्होंने भी बच्चे के पिता को स्कूल छोड़  देने की बात की।  धर्म का सही अर्थ न जानने के कारण  देश में एक धर्म विशेष के लोग दूसरे धर्म के देवी देवता और धार्मिक किताबो का इस तरह का अपमान पूरी मानवता के लिए शर्मिंदा करने वाला है।  आप पूरा वीडियो निचे दिए गए लिंक से देख सकते है।

Follow us

Share: